Nude bhabhies sex dating

थोड़े इंतजार के बाद जब देखा कि वो अब भी सो रही थी मैंने अपना हाथ थोडा उपर सरकाया और उनके ब्लाउस के उपर तक ले गया.

उनकी एक चुची की आधी गोलाई मेरे उंगलियों के नीचे आ गयी थी.

मुंबई के बस और ट्रेन में ना जाने कितने ही लड़कियों की चुची दबाई है मैने.

मैंने सोचा कि अब असली माल टटोला जाए और अपना हाथ उठा कर चाचीजी की जाँघ पर रख दिया.

चाचीजी को कोई आहट नहीं हुई और मैं झट से उठकर रूम के बाहर पेशाब करने चला गया.

Comments